(KCC) किसान क्रेडिट कार्ड क्या है कैसे बनवाएं (Kisan Credit Card Apply In Hindi)

Kisan Credit Card Kaise Banaye: आज कल की आधुनिक दुनिया में जहाँ अधिकतर कार्य ऑनलाइन हो जाते है और घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अपने महत्वपूर्ण कार्य पूरे किए जा सकते हैं. इस दौर में बात करते हैं किसानों की जिनको कई आर्थिक संकटों से गुज़रना पड़ता है जिसमें प्रमुख है कर्ज़ की समस्या इसलिए इस तरह की किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए एक कारगर किसान क्रेडिटकार्ड योजना (KCC) सरकार ने जारी की है.

अनुक्रम दिखाए

किसानों की सुविधा का ख्याल कर हम एक ऐसी योजना के बारे में बताने वाले हैं जिसका उपयोग कर किसान अपनी आर्थिक स्थिति सुधार सकते हैं एवं ऋण संबंधी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. हम बात कर रहे हैं “किसान क्रेडिट कार्ड” की जिसके बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं, जो किसानों के लिए काफी फायदेमंद साबित होगी.

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है (KCC In HIndi)

“किसान क्रेडिट कार्ड” भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक ऐसी योजना है जिसके तहत किसान 4% के ब्याज दर पर तीन लाख तक ऋण ले सकते हैं. इस योजना के लिए अनेक बैंक सुविधा प्रदान कराते हैं और कम ब्याज में ऋण उपलब्ध कराते हैं. इस योजना से किसान अपने ऋण संबंधित समस्याओं का समाधान पा सकते हैं. इस योजना की वेलिडिटी पाँच साल निर्धारित की गई है.

किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुवात (History Of Kisan credit card)

किसानों को काफी मात्रा में ऋण संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिस वजह से उन्हें भारी ब्याज देना पड़ता है जिस कारण आर्थिक स्थिति की समस्या उत्पन्न हो जाती है. इस समस्या के समाधान के लिए केंद्र सरकार ने अगस्त वर्ष 1998 में “किसान क्रेडिट कार्ड” (KCC) योजना शुरू की गई. जिसका मूल उद्देश्य कृषि संबंधित कल्याण एवं ऋण संबंधित सुविधा प्राप्ति था.

(KCC) किसान क्रेडिट कार्ड क्या है और कैसे बनवाएं (Kisan Credit Card Apply In Hindi)

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना बहुत ही आसान है. आप ऑफलाइन बैंक या सहकारी वित्तीय संस्था में जाकर और ऑनलाइन बैंक की वेबसाइट या http://pmkisan.gov.in पर जाकर आवेदन कर किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते है.

चलिए इन दोनों तरीको को विस्तार से जानते है.

किसान क्रेडिट अप्लाई करने का ऑनलाइन तरीका

किसानों की ऋण संबंधित समस्या के समाधान के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ घर बैठे ऑनलाइन प्राप्त किया जा सकता है. तो जानते हैं किस प्रकार ऑनलाइन किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाया जा सकता है. इस संदर्भ में जानकारी इस प्रकार है –

  • इस योजना से जुड़ने के लिए सबसे पहले जो बैंक ये सुविधा प्राप्त करवाता है उसकी मूल(official) वेबसाइट पर जाना होगा.
  • बैंक की मूल वेबसाइट पर जाकर वहाँ पर किसान क्रेडिट कार्ड ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.
  •  किसान क्रेडिट कार्ड ऑप्शन पर क्लिक     करने के बाद एक दूसरा पेज खुलेगा जहाँ पर आपको अपना नाम, फोन नंबर आदि जानकारियाँ भरनी होगी.
  • इसके साथ ही आपको अपने डॉक्युमेंट्स की जानकारियाँ भी भरनी होगी.
  • सभी जानकारियाँ भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा.
  • सबमिट जानकारियों के बाद एक संबंधित नंबर मिलता है इस तरह ऑनलाइन अप्लाई हो जाता है.
  • इस प्रक्रिया को पूरा होने में 3 से 4 दिनों का समय लग जाता है. आपकी पात्रता देखकर संपर्क किया जाता है और योजना से जुड़ी अन्य गतिविधियाँ आगे बढ़ाई जाती हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का ऑफलाइन तरीका

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की सुविधा प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन भी आवेदन किया जा सकता है जो सरल रूप से कार्यान्वित की जा सकती है. तो जानते हैं किस प्रकार ऑफलाइन तरीके से इस योजना से जुड़ सकते हैं. इस प्रक्रिया की रूपरेखा इस प्रकार है –

  • ऑफलाइन योजना का लाभ उठाने के लिए जिस बैंक से ऋण लेना है उस बैंक में जाकर फॉर्म ले सकते हैं.
  • बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं.
  • किसान क्रेडिट कार्ड के लिए सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट www.agricoop.gov.in और http://pmkisan.gov.in/ पर जाकर के फॉर्म डाउनलोड किया जा सकता है.
  •  डाउनलोड फॉर्म का प्रिंट आउट लेकर अपने बैंक में जाकर फॉर्म जमा किया जा सकता है.
  • बैंक में जाकर वहाँ फॉर्म देने के बाद ही संबंधित आधिकारिक ऑफिसर द्वारा आगे की आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाती है.
  • सभी फार्म व योजना से संबंधित कार्य पूरे हो जाने के बाद बैंक के संबंधित अधिकारी किसान को ऋण संबंधित सहायता प्राप्त करा सकते हैं.
  • किसान क्रेडिट कार्ड संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो किसान क्रेडिट कार्ड के कस्टमर केयर से सहायता प्राप्त की जा सकती है.

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए ज़रूरी डॉक्युमेंट्स

अगर आपको किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना है तो उसके लिए मुख्य दस्तावेज़ की आवश्यकता होगी. किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए इन डाक्युमेंट्स की ज़रूरत पड़ती है जो इस प्रकार हैं –

  • वोटर आईडी कार्ड
  • आवेदन फार्म सही तरीके से भरा हुआ हस्ताक्षर सहित
  • पैन कार्ड या पासपोर्ट
  • आधार कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक द्वारा ज़ारी no dues certificate
  • ज़मीन के ज़रूरी दस्तावेज़ जैसे खसरा, खतौनी, पावती आदि.
  • 2½ लाख से ज्यादा धनराशि ऋण के लिए बारह साला प्रमाणपत्र तहसील के द्वारा बना हुआ.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए ज़रूरी भूमि

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान के पास स्वयं की ज़मीन होनी चाहिए जो कृषि योग्य हो. किसान के पास कितनी ज़मीन होनी चाहिए व कितनी भूमि पर ऋण मिल सकता है इस का निर्धारण डिस्ट्रिक्ट लेवल कमेटी ( District level committee) करती है. इसके हेड ऑफ डिपार्टमेंट (Head of department) डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट(District Magistrate) माने जाते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड के मुख्य उद्देश्य

भारतवर्ष में अधिकतर किसानों को कई संकटों से गुज़रना पड़ता है जिससे उनकी आर्थिक स्थिति पर काफी असर पड़ता है. किसानों की आजीविका का मुख्य आधार कृषि ही होती है और कृषि के भरोसे जीविका पूर्णरूपेण चल नहीं पाती इस कारण किसानों को बैंक से ऋण लेना पड़ता है या साहूकार से ऋण लेना पड़ता है. इन दोनों ही रूपों में किसानों को भारी ब्याज दर जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है.

बैंक से ऋण लेने में बहुत समय लग जाता है और साहूकार से ऋण लेने पर बहुत ब्याज देना पड़ जाता है जिसको पूरा करते-करते किसानों की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो जाती है. इस तरह की समस्याओं से छुटकारा दिलाने के लिए सरकार ने किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा शुरू की जिसमें ब्याज दर भी कम होती है और आसानी से उपलब्ध किया जा सकता है.

किसान क्रेडिट कार्ड की विशेषताएँ (Features Of KCC In Hindi)

किसान क्रेडिट कार्ड किसानों के हित के लिए ज़ारी की गई योजना है. किसान क्रेडिट कार्ड की विशेषताओं के कारण ही इस योजना को किसानों के लिए काफी सहायक माना जाता है. किसान क्रेडिट कार्ड की मुख्य विशेषताएँ इस प्रकार से हैं –

  • इस योजना के तहत ब्याज दर 2% से भी कम तक हो सकती है. इस कार्ड को बनवाने के लिए फीस व चार्ज में भी छूट मिलती है.
  • इस योजना के अंतर्गत 1.60 लाख रुपए की धनराशि तक के लिए ऋण में सिक्योरिटी की अनिवार्यता नहीं है.
  • इस योजना के तहत बीमा कवरेज की सुविधा भी उपलब्ध की जाती है. जैसे विकलांगता व मृत्यु पर 20 से 50 हजार तक की बीमा कवरेज सुविधा प्राप्त होती है.
  • इस योजना के ज़रिए किसान अपने अकाउंट में सेविंग के तौर पर उच्च ब्याज दर की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं.
  • इस योजना के तहत तीन लाख तक की धनराशि निकाल सकते हैं.
  • धनराशि की जमा अवधि फसल के कटने एवं व्यवसाय की अवधि पर निर्धारित होती है जिसके तहत ऋण लिया गया हो.

किसान क्रेडिट कार्ड के फायदे (Kisan credit card ke fayde)

किसान क्रेडिट कार्ड ऋण संबंधित परेशानियों में काफी फायदेमंद होता है जिससे हम मूलतः अनजान होते हैं तो आज हम इसके फायदों की महत्वपूर्ण जानकारी देते हैं –

  • किसान क्रेडिट कार्ड एक ऐसी योजना है जिसका उपयोग आसानी से किया जा सकता है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन आसानी से जुड़ा जा सकता है और इसका लाभ उठाया जा सकता है.
  • इस योजना के तहत आसानी से कम ब्याज में तीन लाख तक का ऋण लिया जा सकता है.
  • इस योजना में अगर निर्धारित समय में पैसे जमा कराते हैं तो सरकार द्वारा दो या तीन फीसदी और कुछ संदर्भ पर चार फीसदी तक की एक्स्ट्रा छूट मिलती है.

किसान क्रेडिट कार्ड आधारित पात्रता

किसान क्रेडिट कार्ड कृषि कार्यों में कार्यरत कोई भी इंसान जिसकी खुद की ज़मीन हो किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकता है. किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाने के लिए कुछ पात्रता की ज़रूरत होती है. इस योजना की पात्रता संबंधी जानकारी इस प्रकार है –

  • इस योजना के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 75 होनी चाहिए.
  • ऐसा कोई भी व्यक्ति जिसके पास कृषि योग्य स्वयं की भूमि हो. जो कम से कम 3 या 4 बीघा हो.
  • अगर एक व्यक्ति से अधिक लोग संबंधित हैं तो उत्तराधिकारिक रूप में भूमि के स्वामी के रूप में सभी संबंधित हों.
  • पशुपालन व मछली पालन जैसे व्यवसाय से संबंधित व्यक्ति भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.
  • इस योजना के तहत 60 वर्ष से अधिक आयु वाले के साथ उसके कानूनी उत्तराधिकारी की ज़रूरत पड़ती है.

निम्नलिखित पात्रता को पूर्ण करने पर किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अनिवार्यता स्वरूप इस योजना के योग्य बन जाता है.

किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए कितनी जमीन चाहिए?

किसान क्रेडिटकार्ड बनाने के लिए आप के पास खुद की कम से कम 3 से 4 बीघा जमीन की पावती होनी चाहिए. इससे ज्यादा जमीन होने से आपको KCC जल्दी मिलने का पात्रता होती है. एक बीघा जमीन पर आपको KCC (किसाण क्रेडिटकार्ड) पर 10 हजार से लेकर 25 हजार तक की लोन राशी स्वीकृत होती है. अलग-अलग बैंकों में कम या ज्यादा जमीन को योग्यता और राशी अलग हो सकती है.

किसान क्रेडिट कार्ड धारक की मृत्यु होने पर क्या होगा?

यदि किसान क्रेडिट कार्ड धारक की मृत्यु हो जाये तो उसके परिजन को बकाया लोन राशी या लोन की किश्त चुकानी होगी. किसान क्रेडिट कार्ड धारक की मृत्यु होने कोई भी रियायत नहीं मिलती है. हाँ जाँच कर ले की किसान क्रेडिट कार्ड धारक जिसकी मृत्यु हुई है उसे बीमा राशी जरुर मिलेगी जहाँ से उसने किसान क्रेडिटकार्ड लोन लिया है.

किसान क्रेडिट कार्ड सुविधा देने वाले बैंक

किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा प्राप्त करने के लिए बैंक अकाउंट की ज़रूरत पड़ती है. इस योजना की सुविधा कई बैंक उपलब्ध कराते हैं. किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ देने के लिए कई बैंक इस योजना में शामिल हैं जो किसान क्रेडिट कार्ड जैसी सहायता प्रदान करते हैं. कुछ बैंक इस प्रकार हैं –

  • आईसीआईसीआई बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • एचडीएफसी बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • ओडिशा ग्राम्य बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक
  • बंगिया ग्रामीण विकास बैंक आदि.

निम्नलिखित बैंकों के अलावा भी कई बैंक किसान क्रेडिट कार्ड की योजना के फलस्वरूप ये सुविधा प्राप्त कराते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड से प्राप्त विभिन्न ऋण

किसान क्रेडिट कार्ड से कई बैंकों से ऋण ले सकते हैं जो यह सुविधा देते हैं जिससे कृषि में लगने वाली लागत कम की जा सकती है एवम् आर्थिक सुधार लाया जा सकता है. किसानों को इस योजना के तहत कौन कौन से ऋण मिल सकते हैं इसकी जानकारी इस प्रकार है –

  • खुद का फार्म चलाने संबंधित ऋण
  • खुद के लिए फार्म खरीदने के लिए ऋण
  • एग्रीबिजनेस संबंधित ऋण
  • कृषि संबंधित ऋण
  • फसल संबंधित ऋण
  • खेती संबंधित ऋण
  • बाॅइलर प्लस स्कीम संबंधित ऋण
  • पशुपालन संबंधित ऋण
  • फार्म की देख रेख से संबंधित ऋण
  • वेयर हाउसिंग संबंधित ऋण
  • माइनर इरिगेशन स्कीम संबंधित ऋण
  • ज़मीन खरीदने संबंधित ऋण आदि.

उपरोक्त बताए गए ऋणों के अलावा भी कई तरह के कृषि संबंधित ऋण लिए जा सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की अपडेटेड जानकारी

इस योजना के तहत बीमा की गारंटी के अनुसार 14 करोड़ किसानों को ऋण देने की व्यवस्था की गई है. जिस भी किसान के पास स्वयं की भूमि है वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और कम ब्याज दर पर ऋण ले सकते हैं. प्रधानमंत्री द्वारा किसान सम्मान निधि योजना से संबंधित किसान भी इस सुविधा के योग्य माने गए हैं जिन्हें यह सुविधा दी जाएगी उस पर ब्याज दर चार परसेंट ही लगाया जाएगा.

इस योजना के तहत इनकम टैक्स के अंतर्गत ना आने वाले किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु ऋण के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड को चलाने के लिए नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर और रूरल डेवलपमेंट का कार्य करती है. किसान क्रेडिट कार्ड को पीएम किसान सम्मान निधि योजना के साथ योजना को सम्मिलित किया गया है. यह योजना मुख्य रूप से छोटे किसानों को प्राप्त होती है.

इस योजना के ज़रिए कृषि व्यवसाय, मछली पालन व पशुपालन व्यवसाय में लगे किसान अपनी ऋण संबंधित समस्या के समाधान हेतु ऋण ले सकते हैं. बैंक इस योजना के तहत ऋण पर ब्याज दर की छूट देता है. किसान इस ऋण की भरपाई के लिए फसल की कटाई की समय सीमा के अनुसार ऋण चुका सकता है.

इस तरह किसान वर्ग किसान क्रेडिट कार्ड के ज़रिए अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं और प्रस्तुत लेख के माध्यम से किसान क्रेडिट कार्ड की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

FAQs: Kisan Credit Card In Hindi

किसान क्रेडिट कार्ड का पैसा माफ होगा या नहीं?

किसान क्रेडिट कार्ड का पैसा माफ़ हो या नहीं इसका सही जवाब आपको वहीं मिलेगा जहाँ से आपको किसान क्रेडिटकार्ड लिया है. जैसे बैंक या वित्तीय संस्था या सहकारी बैंक. फ़िलहाल सरकार और बैंक की ऐसी कोई योजना नहीं है की जिससे KKC का पैसा माफ़ हो जाये.

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है?

किसान क्रेडिट कार्ड भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक ऐसी योजना है जिसके द्वारा किसान ऋण के रूप में कम ब्याज दर पर बैंक से धनराशि ले सकते हैं. बैंकों की सामान्य शर्तों के तहत सरकार इसे किसानों के हित के लिए ऋण रूप में देती है.

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुवात कब हुई?

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुवात वर्ष 1998 में किसानों की ऋण संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए हुई थी.

किसान क्रेडिट कार्ड से धनराशि कैसे मिलेगी?

किसान क्रेडिट कार्ड से धनराशि प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन या ऑनलाइन बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर अप्लाई कर सकते हैं. किसान क्रेडिट कार्ड संबंधित जानकारी फार्म में भरनी पड़ती है और जमा कराना पड़ता है. पात्रता निश्चित हो जाने पर आपके ऋण संबंधित कार्य संचालित होने शुरू हो जाते हैं.

क्या किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ सभी किसान प्राप्त कर सकते हैं?

किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ वे सभी किसान जिनके पास स्वयं की कृषि युक्त भूमि है एवम् खेतिहर हैं और कृषि कार्यों में संलग्न हैं वे सभी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं साथ ही जो सांझेदारी में कृषि करने वाले एवम् पट्टेदार किसान भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड से 4% ब्याज कैसे प्राप्त किया जा सकता है?

किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत निर्धारित धनराशि अगर आप पूरे 12 महीने समयानुसार ब्याज के साथ जमा कराते हैं तो आपको 3 से 4% के ब्याज दर के हिसाब से मुनाफा प्राप्त होगा.

इन्हें भी पढ़े 

निष्कर्ष – किसान क्रेडिट कार्ड की पूरी जानकारी हिंदी में

किसानों के हित से संबंधित उनको ऋण की समस्याओं से छुटकारा दिलाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड एक उत्तम योजना है जो किसानों को उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाने एवं ऋण से संबंधित समस्याओं के समाधान हेतु काफी लाभदायक साबित होती है. इस लेख KCC Kya Hai In Hindi के माध्यम से आप किसान क्रेडिट कार्ड संबंधित सभी जानकारियों से अवगत होगें एवम् सही मार्गदर्शन प्राप्त कर पायेगें.

Rate this post

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रणजीतसिंह है और मै एक प्रोफेशनल ब्लॉगर और एक Youtuber हूँ. LoanKaise.com ब्लॉग पर हम आपको विभिन्न प्रकार के लोन विकल्पों के बारें में विस्तार से बताते है. इस ब्लॉग पर हम किसी भी प्रकार का लोन नहीं देते, बस लोन सम्बंधित सही जानकारी आपके साथ शेयर करते है. ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment